शादी के लिए लड़के देख रहे थे घरवाले, asp की गोद में इस हालत में मिली लड़की


जयपुर.एटीएस के एडिशनल एएसपी अाशीष प्रभाकर के सुसाइड केस में सामने आया है कि उनका और पूनम शर्मा का करीब पांच साल से संपर्क था। महिला छह माह से शादी के लिए दबाव बना रही थी। इसी तनाव में एएसपी ने पहले उसे गोली मारी और फिर खुद को। रिपोर्ट्स की माने तो जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पूनम की सिर एएसपी आशीष की गोद में था। पूनम के लिए लड़का देख रहे थे घरवाले...
 
 
- पूनम के जीजा विमलेश व बहन दीपिका ने बताया कि पूनम के मोबाइल को वह और परिवार के अन्य सदस्य रोजाना चेक करते थे।
- उसमें ना तो कभी आशीष प्रभाकर की फोटो देखी और ना ही उसके नाम से कोई नंबर सेव थे। हम लोग तो पूनम की शादी के लिए लड़का तलाश कर रहे थे।
- पैसों की कमी नहीं थी परिवार में। अगर हम लोग पूनम के साथ रहते तो वह हमारी भी हत्या कर देता।
- अब वह खुद को बचाने और हमें बदनाम करने के लिए सुसाइड नोट लिखकर चला गया।
 
पूनम की पति से अनबन हुई तो माणक चौक थाने में प्रभाकर से मिली
 
 
- सूत्रों ने बताया कि वर्ष 2011 में पूनम की शादी हुई, लेकिन उसके अगले दिन ही झगड़े के बाद उसने पति व ससुराल वालों के खिलाफ माणक चौक थाने में रिपोर्ट दी।
- हालांकि बाद में दोनों पक्षों में राजीनामा हो गया, लेकिन पूनम ने तलाक ले लिया। आशीष प्रभाकर माणक चौक एसीपी थे।
- उसी दौरान उनका पूनम से संपर्क हुआ था और वर्ष 2012 में दोनों की प्रेम कहानी शुरू हो गई, लेकिन पिछले छह माह से पूनम आशीष पर शादी के लिए दबाव बना रही थी और महेश नगर इलाके में रहने वाले कुछ युवकों के माध्यम से प्रभाकर को ब्लैकमेल कर रही थी।
 
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए 5 साल से था रिश्ता।

2012 में दोनों की लव स्टोरी शुरू हो गई, लेकिन पिछले 6 महीने से पूनम आशीष पर शादी के लिए दबाव बना रही थी।

Related Article

पूनम और प्रभाकर का रिश्ता थाने से शुरू होकर आगे बढ़ा और पांच साल तक बढ़ता ही गया।

5 साल का रिश्ता : घनिष्ठता इतनी बढ़ी कि आशीष की बातें पूनम को प्रतािड़त करने लगीं

- पूनम और प्रभाकर का रिश्ता थाने से शुरू होकर आगे बढ़ा और पांच साल तक बढ़ता ही गया। प्रभाकर को पूनम की सचाई अब समझ आने लगी थी।
- करीब एक महीने पहले जब आरपीए में आशीष प्रभाकर ट्रेनिंग पर थे, पूनम के साथ किसी बात पर उनका विवाद हो गया।
- पूनम ने बजाजनगर थाने जाकर प्रभाकर के खिलाफ प्रताड़ना का परिवाद दे दिया।
- पुलिस ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की थी। इसकी भनक प्रभाकर को लगी तो वे घर से गायब हो गए। आरपीए की ट्रेनिंग भी छोड़कर चले गए थे।

करीब एक महीने पहले जब आरपीए में आशीष प्रभाकर ट्रेनिंग पर थे, पूनम के साथ किसी बात पर उनका विवाद हो गया।

रिश्ते का अंजाम : प्रभाकर पूनम को साथ ले गया, शराब पी कर हत्या की, फिर आत्महत्या

- गुरुवार शाम 5.30 बजे प्रभाकर एटीएस कार्यालय से सीधे पूनम के पास गए और इस दौरान उसने शराब भी पी। दोनों कार से जगतपुरा की तरफ गए।
- प्रभाकर ने कार रोककर पहले पूनम की दाईं कनपटी पर अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मारी और पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी।
- उसके बाद प्रभाकर ने भी अपनी दाईं कनपटी पर गोली मार दी।
- पुलिस को कार में गोलियों के दो खोल व सात जिंदा कारतूस रिवॉल्वर की मैगजीन में लोड मिले।
- मैगजीन 13 कारतूसों की थी। चार कारतूस कहां गए, पुलिस इसकी जांच कर रही है।
 
आगे की स्लाइड्स में देखिए घटना से संबंधित फोटोज।

28 साल की पूनम अलवर के राजगढ़ की रहने वाली थी। वह आरएएस की कोचिंग भी कर रही थी।




OR


Note: Your password will be generated automatically and sent to your email address.

Forgot Your Password?

Enter your email address and we'll send you a link you can use to pick a new password.

log in

Become a part of our community!

Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Join Bollywood Track Community

Back to
log in

Choose post type

News Image List Poll Quiz Video